Online Homoeopathy: World’s 1st & Best 4 Step Homoeopathic Treatment

Online Homoeopathy: World’s 1st & Best 4 Step Homoeopathic Treatment

डॉ.ठक्कर की

 

4 स्टेप होमियोपैथिक ट्रीटमेंट

मूल कारणों का सुरक्षित उपचार

डॉ.ठक्कर की 4 स्टेप होमियोपैथिक ट्रीटमेंट को

⇒ आंतरिक उपचार और

⇒ हेल्दी किड्स प्रोग्राम भी कहते है।

डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार में नीचे दिए हुए 4 सुरक्षित तरीकों से उपचार किया जाता है।

होमियोपैथी

होमियोपैथी, अन्य किसी भी चिकित्सा पद्धति से, अधिक मरीजों को ठीक करती है।

बिना किसी शक के यह अधिक सुरक्षित, किफ़ायती और पूर्ण चिकित्सा-विज्ञान है !

-: महात्मा गांधी :-

आंतरिक उपचार में, रोगी की और रोग की अवस्था पर आधारित, विशेष और जेनेटिक (Genetic)  होमियोपैथिक दवाई का इस्तेमाल किया जाता है।

आहार मार्गदर्शन

आहार एक श्रेष्ठ दवा है।

आहार को ही दवा बना लो,

वरना दवा आहार बन जायेगी !

-: हिप्पोक्रेट्स :–

आंतरिक उपचार में, चारों स्टेप में भिन्न-भिन्न आहार योजना दी जाती है।

जीवन-शैली मार्गदर्शन

आदर्श आरोग्य की प्राप्ति यह कुछ दिनों की क्रिया नहीं है, यह एक सही जीवन-शैली का निर्माण है !

आंतरिक उपचार में, चारों स्टेप के अनुसार व्यायाम, योगासन और प्राणायाम के बारे में मार्गदर्शन दिया जाता है। 

मन की शक्ति

अगर आपके अंतर्मन के प्रोग्राम्स आरोग्य के लिए सेट नहीं है

तो फिर आप चाहे कुछ भी करें,

कुछ भी खाएँ, कुछ भी उपचार करें,

कुछ भी व्यायाम करें, कुछ भी सीखें;

अधिक फर्क नहीं पड़ने वाला !

आंतरिक उपचार में, माइंड को रिसेट करने के लिए, उपचार की स्टेप अनुसार, MIND RESET AUDIO दिए जाते है। 

एक दिन में किडनी की चार पथरी निकल गई

डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार से एक दिन में ही मेरी किडनी की 4 पथरी निकल गई !

श्री मनीष पगारे

Rationing Inspector, Mumbai

Mo:7387011346

कौन-कौन सी बीमारियों में लाभ होता है ?

प्रतिकार शक्ति की समस्या

साइनस की समस्या

टॉन्सिल्स की सुजन

एलर्जी, दमा

पुरानी सर्दी-खांसी

मेमरी और पढ़ाई की समस्या

एसिडिटी, गैस, कब्ज

पाचन की समस्या, बवासीर

अपेंडिक्स की सुजन

मोटापा और वज़न न बढ़ना

ऊंचाई की समस्या

बाल और चमड़ी की समस्या

डायबिटीज

हार्ट की बीमारी

बी.पी. की समस्या

पथरी, संधिवात

स्त्री रोग

एड्स

कैंसर

लैंगिक समस्या

........और दूसरी अनेक बीमारियों में यह उपचार पद्धति लाभकारक सिद्ध हुई है।

हेयर प्रॉब्लम ठीक हो गया

मेरे सर के बालो में, तीन जगहों पर टाल (alopecia) पड़ गई थी। लेकिन  डॉ.ठक्कर की होमियोपैथिक ट्रीटमेंट से मेरा यह प्रॉब्लम पूर्ण रूप से ठीक हो गया।               - संजीव सिंग

आंतरिक उपचार क्या है ?

यह एक वैज्ञानिक उपचार पद्धति है जिसमें आंतरिक उपचारक को रोगों को नष्ट करने के लिए सक्रिय और शक्तिशाली बनाया जाता है।

इसमें होमियोपैथिक दवाई, आहार योजना, योग-प्राणायाम, जीवनशैली परिवर्तन और माइंड रिसेट जैसी कुदरती पद्धतियों द्वारा संयुक्त उपचार किया जाता है।

समग्र विश्व में इस प्रकार का यह एकमात्र और विशिष्ट उपचार है !

आंतरिक उपचारक तत्व क्या है ?

इस विश्व में सिर्फ एक उपचारक तत्व है और वह हमारे भीतर है।

आंतरिक उपचार पद्धति में, इसे आंतरिक उपचारक या आंतरिक उपचारक तत्व कहते है। यह आंतरिक उपचारक तत्व, अनंत प्रज्ञा और अनंत शक्ति का खजाना है।

माँ के गर्भ में, एक सूक्ष्म पेशी में से हमारे संपूर्ण शरीर का निर्माण इसी अनंत प्रज्ञा द्वारा हुआ है! जो निर्माण कर सकता है वह उपचार भी कर सकता है!

अगर आंतरिक उपचारक तत्व सशक्त है, तो वह सभी प्रकार की बीमारियों से हमारी रक्षा करता है और बीमारी आने पर उसे जल्दी से ठीक भी करता है।

चमड़ी और टॉन्सिल्स की तकलीफ हमेशा के लिए ठीक हो गई

मेरी बेटी वंशिका को जन्म से बार-बार टॉन्सिल्स की सुजन और शरीर पर फोड़े फुंसी आने की तकलीफ थी। बड़े-बड़े डॉक्टरों से इलाज से कुछ भी लाभ नहीं हुआ। डॉ.ठक्कर की ट्रीटमेंट से उसकी चमड़ी और टॉन्सिल्स की तकलीफ हमेशा के लिए ठीक हो गई। आज उस बात को 10 वर्ष हो गए है। तब से मेरी वंशिका बिलकुल स्वस्थ है।

- प्रिया खाती (वंशिका की मम्मी)

उपचार के लाभ*

रोग मुक्ति

रोगों के मूल कारण नष्ट होने की वजह से पुराने और बार-बार होने वाले रोगों से छुटकारा मिलता है।

हीलिंग बूस्टर

हीलिंग ब्लॉकेज दूर होते है और अन्य चिकित्सा पद्धति और दवाई से ठीक होने की संभावना और गति बढ़ती है।

बेहतर ऊर्जा & विकास

शारीरिक और मानसिक एनर्जी बढ़ती है।

बच्चों के मस्तिष्क और शरीर का विकास सर्वोत्तम होता है।

मेमरी और एकाग्रता भी बढ़ती है।

नॉर्मल वज़न

अनावश्यक चर्बी कम होने की वजह से मोटापा कम होने लगता है।

स्नायुओं का विकास होने की वजह से दुबले लोगों का वज़न बढ़ने लगता है।

सुरक्षा, प्रतिरोध &

कम दवाई खर्च

रोग प्रतिरोधक क्षमता और कीटाणुओं से सुरक्षा बढ़ती है। इसलिए बीमार होने की संभावना कम हो जाती है।

और दवाई पर होने वाला खर्च भी कम होने लगता है।

22 किलो वज़न कम हो गया

मेरा वज़न 80 किलो हो गया था और मेरी स्किन भी काली हो रही थी। डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार और होमियोपैथिक दवाई से मेरा 22 किलो वज़न कम हो गया और साथ ही मेरी स्किन का कलर भी निखर गया।    उषा म्हात्रे

विशेषताएं

दीर्घकालीन परिणाम

रोगों के मूल कारण और बीज कारण को नष्ट करना यही इस उपचार पद्धति मुख्य उद्देश्य है। इसलिए इसके परिणाम दीर्घकालीन या स्थायी होते है।

सुरक्षित उपचार

आंतरिक उपचार में सिर्फ सुरक्षित और कुदरती पद्धतियों का इस्तेमाल किया जाता है।

तेज परिणाम

तेज परिणाम के लिए इसमें होमियोपैथी, आहार योजना, योग-प्राणायाम, जीवनशैली परिवर्तन और माइंड रिसेट जैसी असरकारक पद्धतियों द्वारा संयुक्त उपचार किया जाता है।

अन्य चिकित्सा का मित्र

आप को एलॉपथी, सर्जरी या अन्य कोई चिकित्सा पद्धति की आवश्यकता है तो यह उपचार उन चिकित्सा पद्धति द्वारा  सकारात्मक परिणाम पाने में मदद करता है और ठीक होने की गति को बढ़ाता है।

एलर्जी जड़ से ठीक हो गई

डॉ.ठक्कर की ट्रीटमेंट से मनिया की, एक साल की खुजली की तकलीफ़, 1 सप्ताह में ही ठीक हो गई। पिछले 7 साल से उसे यह तकलीफ़ बिलकुल नहीं हुई है। डॉ.ठक्कर के उपचार से उसकी प्रतिकार शक्ति बढ़ गई है और जिस से वह जल्दी बीमार भी नहीं पड़ती।

 नंदिनी कुकरेजा (मानिया की मम्मी)

उपचार के चार स्टेप

आंतरिक उपचार यह 4 स्टेप की वैज्ञानिक प्रक्रिया है

इसके 4 स्टेप इस प्रकार है 

स्टेप 1

शुद्धिकरण

Detoxification

इस स्टेप का उद्देश्य है >>

"रक्त और शरीर में जमा मल

और विषद्रव्यों की सफाई करना "।

अगर हमारी उपचारक और अन्य कोशिकाओं में कचरा भरा है तो आहार के पोषक तत्वों का शोषण ठीक से नहीं हो पाएगा। शुद्धिकरण के बाद कोशिकाओं की पोषक तत्वों को ग्रहण करने की क्षमता बढ़ जाती है।

इसीलिए पहले शुद्धिकरण,

बाद में शक्तिवर्धन !

ENERGIZE EDITED_348X300

स्टेप 2

शक्तिवर्धन

Energizing

इस स्टेप का उद्देश्य है >>

" कोशिकाओं को आवश्यक तत्वों

की पूर्ति करके शक्तिशाली

और स्वस्थ बनाना "।

अगर हमारे शरीर की कोशिकाएं कमजोर हैं तो उनके द्वारा उत्पन्न की गई नई कोशिकाएं भी कमजोर होंगी।

और शक्तिवर्धन के बाद स्ट्रोंग  कोशिकाओं द्वारा उत्पन्न की गई नई कोशिकाएं भी स्ट्रोंग होंगी।

इसीलिए पहले शुद्धिकरण और शक्तिवर्धन, बाद में विकास और नवनिर्माण !

 

asexual_reproduction_300

स्टेप 3

नवनिर्माण

Growth

इस स्टेप का उद्देश्य है

"आंतरिक उपचारक को स्वस्थ शरीर के नव-निर्माण और विकास कार्य के लिए शक्तिशाली बनाना "।

PROTECTION_377X200

स्टेप 3

रक्षण

Protection

इस स्टेप का उद्देश्य है

"बीमारी ठीक होने के बाद बीमारी फिर से ना हो और आरोग्य दीर्घकाल तक सलामत रहे इसलिए उपाय करना "।

ऊंचाई 8cm बढ़ गई

डॉ.ठक्कर की होम्योपैथीक दवाई से मेरी ऊंचाई (height) 8 cm  तक बढ़ गई है।

 

उपचार से पहले उंचाई >>

147 cm (4 फूट 10 इंच)

उपचार के बाद उंचाई >>

155 cm (5 फूट 1 इंच)

- निकिता चव्हान

अन्य अनुभव और अनुभव के VIDEOS के लिए  यहाँ क्लिक करें >>

आपको मिलता है >>

आंतरिक उपचार में आपको मिलता है 

⇓ ⇓ ⇓ ⇓ ⇓ ⇓ 

  1. होमियोपैथिक दवाई या दवाई का प्रिस्क्रिप्शन
  2. शुद्धिकरण : स्टेप 1 (eBook)
  3. शक्तिवर्धन : स्टेप 2 (eBook)
  4. निर्माण और विकास : स्टेप 3 (eBook)
  5. आरोग्य रक्षण : स्टेप 4 (eBook)
  6. आंतरिक उपचार परिचय (eBook)
  7. शक्तिवर्धन के लिए माइंड रिसेट (Audio)
  8. निर्माण और विकास के लिए माइंड रिसेट (Audio)
  9. आरोग्य रक्षण के लिए माइंड रिसेट (Audio)

थाइरोइड की तकलीफ ठीक हो गयी और हीमोग्‍लोबिन बढ़ गया।

Thyroxine(100mcg) की रोज 3 गोली खाकर भी मेरा थाइरोइड कंट्रोल नहीं हो रहा था। लेकिन डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार से मेरी थाइरोइड की तकलीफ ठीक हो गयी और हीमोग्‍लोबिन बढ़ गया। चार साल से दवाई बंद है फिर भी मेरी थाइरोइड की रिपोर्ट नॉर्मल ही आ रही है।

-आशा ढगे 

ऑनलाइन आंतरिक उपचार को कैसे प्राप्त करें ?

ऑनलाइन आंतरिक उपचार को प्राप्त करने के 4 स्टेप है

स्टेप 1

बीमारी के बारें में बताएं

स्टेप 2

ऑनलाइन पेमेंट करें

स्टेप 3

डॉ.ठक्कर से बात करें

स्टेप 4

होमियोपैथिक दवाई या दवाई के नाम और उपचार के लिए आवश्यक अन्य सामग्री प्राप्त करें

आंतरिक उपचार में पहले रोग और रोगी के बारे में आवश्यक जानकारी प्राप्त की जाती है।

उसके बाद डॉ.आशिष ठक्कर उस जानकारी का अध्ययन करके, आवश्यक होमियोपैथिक दवाई, आहार योजना और अन्य उपचार के लिए आवश्यक बाते निश्चित करते है।

ऑनलाइन आंतरिक उपचार में आपको हमारे हेल्थ सेंटर में आने की आवश्यकता नहीं है!

इसमें ऑनलाइन फॉर्म या मोबाइल के माध्यम से, सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करने की और कंसल्टेशन की प्रक्रिया होती है।

इसमें message, eBooks, audios और video के माध्यम से, उपचार के लिए आवश्यक जानकारी और सामग्री दी जाती है।

WhatsApp या email के माध्यम से, यह message, eBooks, audios और video भेजे जाते है।

होमियोपैथिक दवाई को कैसे प्राप्त करें ?

होमियोपैथिक दवाई को प्राप्त करने के दो तरीके है। इसे आंतरिक उपचार प्लान (प्लान - A & प्लान - B) कहते है।

आंतरिक उपचार

प्लान ⇒ A

ऑनलाइन होमियोपैथिक दवाई का प्रिस्क्रिप्शन और  कंसल्टेशन

इसमें WhatsApp के माध्यम से, होमियोपैथिक दवाई के नाम और उपचार के लिए आवश्यक अन्य सामग्री  भेजी जाती है।

Today's Offer

आंतरिक उपचार

प्लान ⇒ B

होमियोपैथिक दवाई की होम डिलीवरी और ऑनलाइन कंसल्टेशन

इसमें कूरियर (Courier) के माध्यम से, होमियोपैथिक दवाई को आप घर बैठे ही प्राप्त करते है।

उपचार के लिए आवश्यक अन्य सामग्री, WhatsApp के माध्यम से,  भेजी जाती है।

Today's Offer

*उपचार प्लान A के लिए गारंटी 

⇒ ‎₹.0 का आर्थिक जोखिम

⇒ 100% संतोष की गारंटी

मैं 17 वर्षों के अनुभव से यह जानता हूँ कि अगर आप इस उपचार को यथार्थ समझकर सही तरीके से इस्तेमाल करते हो तो, बीमार होने की वजह से खर्च होने वाला बहुत सा समय और पैसा आप बचा सकोगे।

और मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप इस उपचार को अवश्य पसंद करेंगे। इसलिए ही हम आपके फैसले का पूरा जोखिम दूर करना चाहते है।

इसे खरीदने के 25 दिन तक अगर आपको इस उपचार से संपूर्ण संतोष ना हो तो बस आप हमें कॉल करके (25 दिन के अंदर) बता देना। आपको कोई भी सवाल पूछे बिना, इस उपचार के लिए हमें दिया हुआ आपका पूरा पैसा लौटा दिया जाएगा। (यह गारंटी 3 या उससे अधिक महीने के उपचार प्लान के लिए है।)

आपको अब इस उपचार को खरीदने से कुछ भी खोना नहीं है सिर्फ हासिल करना है।

असली जोखिम तो इस उपचार को ना लेने में है। क्योंकि यह उपचार आपके  आरोग्य की रक्षा करने में और कीटाणुओं से सुरक्षित रखने में अत्यंत लाभकारी है।

*उपचार प्लान B के लिए गारंटी 

⇒ 100% संतोष की गारंटी

⇒ ‎पैसे वापसी की गारंटी 

(25 दिनों तक) 

मैं 17 वर्षों के अनुभव से यह जानता हूँ कि अगर आप इस उपचार को यथार्थ समझकर सही तरीके से इस्तेमाल करते हो तो, बीमार होने की वजह से खर्च होने वाला बहुत सा समय और पैसा आप बचा सकोगे। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप इस उपचार को अवश्य पसंद करेंगे।

इसे खरीदने के 25 दिन तक अगर आपको इस उपचार से संपूर्ण संतोष ना हो तो बस आप हमें कॉल करके (25 दिन के अंदर) बता देना और बची हुई सभी दवाई को हमें कूरियर से वापस कर देना। (ट्रीटमेंट शुरू करने के 40 दिन के अंदर दवाई हमें वापस मिलनी चाहिए।) कूरियर करने का पता जानने के लिए यहाँ क्लिक करें। दवाई हमें मिलते ही, आपने दी हुई फी (fee) में से Rs. 400 (शिपिंग और सामग्री शुल्क) घटाकर, बाकी की फी आपको लौटा दी जाएगी। (यह गारंटी 3 या उससे अधिक महीने के उपचार प्लान के लिए है।)

अपेंडिक्स का ऑपरेशन किए बिना ही मैं ठीक हो गई

अनेक डॉक्टरों ने अपेंडिक्स का ऑपरेशन करने की सलाह दी थी। लेकिन डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार से मेरी पेट की तकलीफ बिना-ऑपरेशन के ही ठीक हो गई!

- रीना रावल

Surgery_233 x 150

ऑपरेशन करें या ना करें ?

ऐसे अनेक मरीज हैं जिन्हें ऑपरेशन की सलाह दी जाती है।

उन्हें डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार से नीचे दिए हुए दो में से किसी एक तरीके से लाभ हो सकता है

संभावना - 1

अधिकतर मरीजों की आंतरिक उपचारक शक्ति बढ़ने की वजह से, उन्हें ऑपरेशन की जरूरत नहीं पड़ती।

जैसे, जय की टॉन्सिल्स की बीमारी बिना ऑपरेशन के ही ठीक हो गई।

जय और अन्य मरीजों के अनुभव का video देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

संभावना - 2

कुछ मरीजों की या उनकी बीमारी की अवस्था ऐसी होती है कि उनका ऑपरेशन करना अनिवार्य होता है।

जिन मरीजों के लिए ऑपरेशन करना अनिवार्य है, उन्हें इस उपचार द्वारा होने वाले लाभ कुछ इस प्रकार है :

  • ऑपरेशन के सफल होने की गति और संभावनाएं बढ़ती हैं।
  • ऑपरेशन करके निकाले हुए रोग के फिर से होने की संभावना कम हो जाती है।

जिन मरीजों के लिए ऑपरेशन करना अनिवार्य है, उनको तो इस प्रोग्राम की सबसे ज्यादा जरूरत है।

क्योंकि उनकी इस ऑपरेशन लायक बीमारी से यह बात स्पष्ट है कि उनकी आंतरिक उपचारक शक्ति बहुत ही कमजोर हो चुकी है।

अगर ऑपरेशन के बाद मूल कारणों को दूर नहीं किया जाता तो वह रोग या उससे बड़ा रोग होने की संभावना बनी रहती है।

जैसे - पथरी या बवासीर, आदि का ऑपरेशन कराने के बाद भी उस के फिर से हो जाने की संभावना बनी रहती है। टॉन्सिल्स का ऑपरेशन कराने के बाद निमोनिया होने की संभावना अधिक होती है।

टॉन्सिल्स की बीमारी बिना  ऑपरेशन के ही ठीक हो गई

एलॉपथी के डॉक्टर ने मेरे बेटे जय के टॉन्सिल्स का ऑपरेशन करने को कहा था। डॉ.ठक्कर की ट्रीटमेंट का रिजल्ट पहले महीने में ही पता चलने लगा। क्योंकि उसी महीने में उसने जब आइस-क्रीम खाई, तो उसे कुछ भी तकलीफ नहीं हुई। और उसकी यह बीमारी बिना ऑपरेशन के ही ठीक हो गई।

  - मीना कानिटकर (जय की मम्मी)

* अस्वीकरण (Disclaimer)

डॉ.ठक्कर के आंतरिक उपचार के, यहाँ दिए हुए अनुभव 100 % सत्य है। लेकिन सभी व्यक्ति भिन्न है, सभी रोग अपने आप में भिन्न है, इसलिए सभी के लिए उपचार से प्राप्त होने वाले परिणाम भी भिन्न-भिन्न होते हैं। डॉ.आशिष एल. ठक्कर या उनका उपचार किसी भी रोग को ठीक नहीं करते है और ना ही ऐसा कोई दावा करते है। डॉ.ठक्कर और उनका उपचार मात्र रोगों के आंतरिक कारणों को दूर करने में सहायता करते है। रोग ठीक तो केवल रोगी की आंतरिक उपचारक शक्ति ही कर सकती है।

इस वेबसाइट का उद्देश्य केवल जानकारी देना है। इस वेबसाइट पर दी गई जानकारी किसी भी रोग की चिकित्सा, रोग के निदान और चिकित्सक की सलाह का विकल्प नहीं है।

पैसे वापस की गारंटी की शर्ते जानने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Sharing is Caring !